Skip to main content

Posts

Featured Post

Why does India have so many hooch-related deaths?

Recent posts

NYIN: World No Tobacco Day 2022 "Protecting Planet and Public health fro...

अजय ने बताया कि डब्ल्यूएचओ की तरफ से 75% तक का सेस तंबाकू उत्पादों पर लगाया जा सकता है जोकि बीडी पर 22% सिगरेट पर 52% है इस सेस को 75% कर दिया जाए

  धर्मशाला के रीजनल सेंटर में नाडा इंडिया  फाउंडेशन द्वारा   युवा संसद का आयोजन किया गया जिसका मुख्य उद्देश्य युवाओं को नशे से दूर रख कर तंबाकू उत्पादकों पर  कर्ज वृद्धि करना  है कार्यक्रम की अध्यक्षता मेंबर ऑफ पार्लिमेंट हिमाचल प्रदेश किशन कपूर द्वारा की गई   युवा संसद का मुख्य उद्देश्य तंबाकू करो में वृद्धि करना वह सेंट्रल कमेटी फाइनेंस मैं किस प्रकार तंबाकू करो मैं बढ़ोतरी की जाती है उस विषय पर चर्चा की गई आगामी बजट सेशन मैं किस प्रकार तंबाकू उत्पादों पर कर वृद्धि को मुख्य रूप से रखा जाए उस पर विचार विमर्श किया गया  युवा संसद कार्यक्रम में प्रथम स्थान पर रहने वाली भाविका ने कहा की एक युवा होने के नाते हमारा यह कर्तव्य बनता है कि इसकी पहल हम अपने घर से करें और साथ में जीएसटी काउंसिल के माध्यम से भी कर वृद्धि के लिए अपने सुझाव हम देंगे  द्वितीय स्थान पर रहने वाले अजय ने बताया कि डब्ल्यूएचओ की तरफ से 75% तक का सेस तंबाकू उत्पादों पर लगाया जा सकता है जोकि बीडी पर 22% सिगरेट पर 52% है इस  सेस को 75% कर दिया जाए तृतीय स्थान पर रहने वाले ना माने कर वृद्धि से यो युवाओं के विकास पर ध्यान दिय

Nada India Foundation – supporting youth during COVID-19 pandemic and striving for more and more youth participation for community development

COVID-19 Crisis:  Community Solutions During COVID-19 pandemic, Nada India conducted various activities directed at developing local youth activism, building capacity and spreading knowledge on COVID-19 and NCDs and their risk factors such as alcohol and tobacco.  Covid-19 situation has worsened everyone’s lifestyle habit especially youths. Their lifestyle pattern has become more sedentary compiled with increase intake of junk food and beverages. NADA India noticed the harmful ways in which Big Alcohol, Tobacco and Food companies exploited this pandemic situation to sell their products.  Once the lockdown was announced, most schools and institutions in India were shut down and students were exposed to more unhealthy advertisements on social media. Using the same social media platform and digital advocacy, NADA India Foundation was showing how youth can benefit from healthy information and also practice a healthy well-being in a fun and inclusive way. Through peer education, peer suppor

National Youth Policy 2021 - Good Health a National Priority

Youth for Tobacco Free India

Nada Youth for Tobacco Free India: Ground breaking initiatives