Skip to main content

Posts

Featured Post

Nada India's forum on Himachal Tourism and Tobacco Control

New Delhi:  Tobacco use remains a significant public health challenge, impacting communities and the environment. Himachal Pradesh, despite commendable efforts, grapples with tobacco-related issues. Simultaneously, the state is renowned for its scenic beauty and ecotourism potential.  To address this Nada India Foundation organized Youth Forum on "Youth Perspectives on Tourism and Tobacco Control"    for young minds to explore the intersections between tobacco control, sustainable tourism, and environmental well-being. Rajinder Kumar, Head of Dept cum Assistant Professor, Department of Travel and Tourism Management, University of Ladakh, was the guest speaker at online session organized on 16th February 2024 The speaker discussed on variant topics.  Importance of eco-tourism in Himachal Pradesh:  It was Explored how tobacco use can undermine the principles of sustainable and responsible tourism. Highlighted the potential economic and health benefits of promoting a tobacco-f
Recent posts

Breaking the Norms and Shaping Futures : Youth Forum on Girls and Tobacco

New Delhi: Girls and tobacco Control is a conversation that often gets overshadowed, but it's time we shine a light on the unique challenges girls face when it comes to tobacco addiction.  Think about it: the pressures, the stereotypes, the social norms-we're bombarded with influences that can push us towards tobacco, whether we realize it or not. But here's the thing: we're not just victims of these pressures. We're agents of change, and it's time to own that narrative. First off, education is key. How many of us truly understand the risks associated with tobacco? I'm talking about more than just the health effects; it's about unravelling the marketing strategies, the peer pressure, and the cultural influences that make tobacco seem like a normal part of growing up.  Imagine if we had access to comprehensive education programs that empowered us with the knowledge and critical thinking skills to make informed decisions about our health. That's empo

The healthcare infrastructure is essential for adolescent health, its time to prioritize healthcare centers

New Delhi: India, now the world’s most populous country, holds a unique advantage with over 253 million adolescents. This demographic dividend, a boon for the economy, demands strategic investments. The upcoming Union Budget 2024-25 is a crucial opportunity to prioritize adolescents for sustainable development. With millions entering the workforce annually, nurturing this young population through education, healthcare, and skill development is imperative. In 2023-24, the Health Ministry's allocation saw a 12.6% increase, yet it falls short of the 2.5% GDP target by 2025. Alarming is the 8.6% reduction in family welfare awareness budget, impacting initiatives crucial for the youth. Urgent action is needed to fortify primary healthcare infrastructure, essential for adolescent health. The shortage of healthcare centers reveals a gap in universal healthcare promises. Adolescence is a crucial phase of life marked by rapid physical, emotional, and social changes. As individuals transiti

तम्बाकू मुक्त जीवन का संकल्प युवाओं को पहले से कहीं अधिक जागरूक बनाता है

शिमला :  राष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर दूरदर्शन केंद्र शिमला द्वारा आयोजित विशेष परिचर्चा ' आज की बात : राष्ट्र निर्माण में युवा प्रेरणा स्रोत'  में भाग लेते हुए नाडा इंडिया की हेल्थ एडवोकेट रीता ने कहा कि समाज में नशे एवम तम्बाकू का चलन तेजी से बढ़ता गया है । नशे की लत कारण हर दूसरे घर में कोई नशा पीड़ित मिल ही जाएगा। हमें यह जान लेना चाहिए कि नशा करने वाला व्यक्ति केवल खुद को अंधकार में नहीं डालता बल्कि उसके साथ उसका घर भी बर्बाद हो जाता है । ऐसे हालात में घर वालों को ये समझ ही नहीं आता कि किस तरह से पीड़ित को नशे के जाल से निकालें ।    तम्बाकू हर तरह के नशे का गेट वे है। इसलिए समय रहते इसके खतरनाक प्रभाव    को जान लेना जरूरी है। देश एवम समाज को तम्बाकू मुक्त करने के लिए तम्बाकू नियमों विशेषकर COTPA के प्रावधानों को सख्ती से लागू करने की जरूरत है। सुश्री रीत ठाकुर जिला मंडी के करसोग तहसील से ताल्लुक रखती हैं। करसोग के मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मी रीत अपने गांव घर को महत्त्व देती हैं। पांच सदस्यों के परिवार में बड़े पुराने लोग अभी जिंदा हैं। परिवार खेती किसानी से जुड़ा है।

Unveiling Well-Being in the Shadows of Failure: Exploring '12th Fail' and the Norms of Success in Adolescent Society

12th Fail movie emerges not only as a cinematic triumph but also as a mirror held up to society, urging us to reflect and redefine our norms before they become detrimental to the well-being of the young  minds eagerly seeking change. The narrative serves as a compelling reminder that the right to fail is an intrinsic part of the human experience, and by embracing this right, we pave the way for a more resilient and compassionate society. Suneel Vatsyayan , Life Coach and Life Skill Educator    https://carecounsel.in/ 

राष्ट्रीय युवा दिवस कार्यशाला में युवाओं ने तंबाकू मुक्त जीवन का लिया प्रण

कांगड़ा: नाडा इंडिया फाऊंडेशन के तत्त्वाधान में आज प्रदेश स्थति एंजेल दिव्यांग आश्रम में राष्ट्रीय युवा दिवस पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नूरपुर के माननीय एसपी अशोक रत्तन (IPS) मुख्य अतिथि थे। कार्यक्रम में तीन विधानसभाओं के 15 युवा क्लब एवम महिला मंडलों ने भाग लिया।  कार्यशाला को संबोधित करते हुए माननीय अशोक रत्तन ने बताया कि तंबाकू का उपयोग युवाओं के लिए एक धीमा जहर साबित होता है। तम्बाकू नियंत्रण के तहत कोटपा अधिनियम के अंतर्गत स्कूलों के आसपास इस पर विशेष नजर रखनी चाहिए। स्कूलों के उपयोग कोटपा का सख्ती से पालन हो यह जरूरी है। यह सुखद है कि नियमों का शक्ति से पालन किया जा रहा है। इस अवसर उपस्थिति साहित्यकार पंकज दर्शी ने बताया कि सृजन कार्यक्रम के माध्यम से बच्चों को इनोवेशन और इन्नोवेटिव कार्यक्रमों से जोड़ने के प्रयास किया जा रहे हैं। इस दिशा में लिए गए प्रयास युवा व्यवहार में बड़े बदलाव करने में सक्षम हैं।  बात को बढ़ाते हुए नेहरू युवा केंद्र के नरेश कुमार ने. कोटपा अधिनियम में तम्बाकू खरीददार की मौजूदा आयु 18 से बढ़ाकर 21 करने का समर्थन किया।  नाडा इंडिया के मंगल स

फतेहपुर के माननीय विधायक की उपस्थिति में नाडा इंडिया का पुरस्कार वितरण समारोह संपन्न

फतेहपुर  कांगडा : हिमाचल कांगडा स्थति फतेहपुर रेस्ट हाऊस में नाडा यंग इंडिया के तत्वाधान में आज पुरस्कार वितरण समारोह एवम संगोष्ठी का आयोजन हुआ। इस अवसर पर फतेहपुर के माननीय विधायक भवानी सिंह पठानिया मुख्य अतिथि थे।   कार्यक्रम में 28 विद्यालयों के 38 प्रतिनिधियों ने शिरकत की। कार्यक्रम में माननीय अतिथि ने विद्यालयों द्वारा आयोजित तंबाकू निषेध रैलियों के सम्मान में सर्टिफिकेट वितरित किए। इस अवसर पर पठानिया जी ने कहा कि तंबाकू उत्पादों पर टैक्स लगना और टैक्स बढ़ाना इसके उपयोग एवम प्रसार में काफी हद तक कमी लाएगा। अतः तंबाकू मुक्त युवा अभियान में तंबाकू के खिलाफ. हर युवा की आवाज को बुलंद करनी चाहिए नाडा यंग इंडिया हिमाचल के संयोजक मंगल सिंह ने इस अवसर पर नशीले दवाओं एवम प्रोडक्ट्स के हानिकारक प्रभावों पर ध्यान दिलाया। इस खतरे का सामना करने हेतु सरकारी प्रयासों एवम संबंधित तथ्यों और आंकड़ों पर चर्चा की। तम्बाकू के प्रभावों की चर्चा करते हुए कैंसर दिल की बीमारी, स्ट्रोक एवम फेफड़ों की बीमारी सहित मधुमेह जैसी बीमारियों का जिक्र किया । नाडा इंडिया के रजत ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में तंबाकू नि